Skip to product information
1 of 2

Original Tulsi Jaap Mala

Original Tulsi Jaap Mala

Regular price Rs. 751.00
Regular price Rs. 1,551.00 Sale price Rs. 751.00
Sale Sold out
Shipping calculated at checkout.

Astrology: हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे और तुलसी की माला दोनों का विशेष महत्व होता है। तुलसी का पौधा हर घर में जरूर होता है और नियमित रूप से तुलसी के पौधे की पूजा होती है। शास्त्रों में तुलसी को बहुत ही पवित्र और सकारात्मक प्रभाव वाला पौधा माना जाता है। हिंदू धर्म में जितना तुलसी के पौधे की पूजा का महत्व होता है उतना ही तुलसी की माला पहनना का भी होता है और इससे जाप करना फलदायी माना जाता है। जो लोग भगवान कृष्ण और भगवान विष्णु के उपासक होते हैं वे तुलसी की माला जरूर अपने गले में धारण करते हैं। ऐसी मान्यता है कि तुलसी की माला गले में पहनने से मन में शांति और आध्यात्मिक पवित्रता बनी रहती है। इसके अलावा ज्योतष में भी तुलसी की माला का विशेष महत्व होता है। तुलसी की माला धारण करने से व्यक्ति की कुंडली में मौजूद बुध और गुरु दोनों ही ग्रह मजबूत होते हैं। आइए जानते तुलसी के माला पहनने और इससे जाप करने के नियम क्या-क्या होते हैं।


    तुलसी की माला जपने के नियम

– जिस तुलसी की माला से आप जाप करें उसे कभी भी भूलकर न पहनने। पहनने और जाप करने वाली दो मालाएं हमेशा होनी चाहिए। तुलसी की माला को जाप करने के बाद उसे कपड़े में लपेटकर रख देना चाहिए। – हमेशा जिस तुलसी माला का जाप करते है उसी का इस्तेमाल करना चाहिए किसी दूसरे की माला से जाप नहीं करनी चाहिए।

तुलसी माला के प्रकार
तुलसी के माला दो तरह की होती हैं। एक श्यामा और दूसरी रामा तुलसी। इन्ही  दोनों से ही तुलसी की माला बनाई जाती है। श्यामा तुलसी की माला पहने से व्यक्ति को मानसिक शांति और मन में सकारात्मक ऊर्जा का भाव पैदा होता रहता है। श्मामा तुलसी की माला से आर्थिक फायदे के साथ भगवान की कृपा हासिल होती है।  वहीं रामा तुलसी की माला से भी व्यक्ति के जीवन में सकारात्मकता और आत्मविश्वास बढ़ता है।
View full details